Anandmath - Bankim Chandra Chattopadhyay

Anandmath

Narrator: Sumit Kaul
Format: Audiobook

Anandmath

Narrator: Sumit Kaul
Format: Audiobook
6H 43Min
Hindi
4.05
‘आनंदमठ’ में 1770 ई. से 1774 ई. तक के बंगाल का चित्र खींचा गया है ! यह उपन्यास या ऐतिहासिक उपन्यास से बढ़कर है ! ऋषि बंकिम ने इसमें उस युग का सिर्फ फोटो नहीं खींचा, बल्कि राष्ट्र-विप्लब के भँवर में फँसे कुछ ऐसे जीवंत मनुष्यों के चित्र दिये हैं, जो आज भी हमें बड़े अपने लगते हैं ! इनमें सामान्य स्त्री-पुरुष भी हैं और महापुरुष भी ! वे आज भी हमें राष्ट्रोत्थान का मार्ग दिखाते हैं ! यह मार्ग है संघर्ष का, अन्याय से लोहा लेने का ! गीता की जो टेक है-युध्यस्व-युद्ध करो, वही टेक है ‘आनंदमठ’ की ! ‘भगवतगीता’ और ‘आनंदमठ’, इन दोनों में पलायनवाद नहीं है ! इसलिए हमारे स्वतंत्रता-संग्राम के दौरान ‘गीता’ को जो महत्त्व मिला, उससे कम महत्त्व ‘आनंदमठ’ को नहीं दिया गया ! इसीलिए ‘आनंदमठ’ के संतान-व्रतधरियोंका गीत ‘वन्दे मातरम’ हमारा राष्ट्रगीत है !
More information about the audiobook:
Publisher: Storyside IN
Published: 2018-03-04

Always have a good book lined up - Listen and read whenever you want

Read and listen to as many books as you like! Download books offline, listen to several books continuously, choose stories for your kids, or try out a book that you didn't thought you would like to listen to. The best book experience you'd ever had.

Free trial for 14 days