60 Ratings
4.2
Series
Part 4 of 5
Language
Hindi
Category
Romance
Length
16min

Alvida

Author: Satya Vyas Narrator: Ila Joshi Audiobook and E-book

तुम्हारा नन्हा डाकिया जो हर बार चिट्ठियाँ देने के एवज में टॉफियाँ लेता था, अबकी दफा कुछ नहीं बोला. बस चुपके से तुम्हारी दी हुई चिट्ठी आगे कर दी. करीने से सात बार मोड़ कर रबर से बंधी हुई चिट्ठी. सात दफा ! अजीब अंक है यह सात भी. सात वचन, सात आसमान, सात समंदर. तुम्हारा वादा भी तो सात जन्मों का ही था न !

© 2021 Storytel Original IN (Audiobook) © 2021 Storytel Original IN (E-book)

Explore more of